Dakhil Kharij Online|Dakhil Kharij Online Apply|Dakhil Kharij Status|ऐसे करे घर बैठे दाखिल ख़ारिज के लिए ऑनलाइन आवेदन

बिहार जमींन दाखिल खारिज क्या है? बिहार में जमींन का दाखिल खारिज एक क़ानूनी प्रक्रिया है जिसमें किसी भी जमींन का मालिक या प्रबंधक उसे राजस्व विभाग के पंजीकरण में से हटा सकता है। यह प्रक्रिया जमींन की विभिन्न योग्यताओं के अनुसार की जाती है और इसे विभाजित किया जाता है।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!
dakhil kharij online

दाखिल खारिज क्यों करते हैं?

  1. अवैध विधि से उपयोग: जब कोई व्यक्ति अपनी जमींन का अवैध रूप से उपयोग करता है और कानूनी प्रावधानों का उल्लंघन करता है, तो उसकी जमींन को दाखिल खारिज किया जा सकता है।
  2. विलीन या विभाजन: जब जमींन के मालिक या प्रबंधक उसे बेचते हैं या विभाजित करते हैं, तो उसे दाखिल खारिज करना आवश्यक होता है।
  3. देनदारी या कर्ज: अगर कोई व्यक्ति अपने कर्ज का भुगतान नहीं करता और जमींन पर आर्थिक वेबंधन होता है, तो दाखिल खारिज की प्रक्रिया शुरू की जा सकती है।

Dakhil Kharij Kya Hota Hai

बिहार या किसी अन्य राज्य में ‘जमीन दाखिल Dakhil Kharij Online खारिज’ एक कानूनी प्रक्रिया है जिसे स्थानीय भूमि विभाग या भूमि रिकॉर्ड्स विभाग द्वारा संचालित किया जाता है। यह प्रक्रिया जमीन दाखिल-खारिज रजिस्टर की जानकारी में बदलाव, तालिका अद्यतन, स्थानीय लोगों की जानकारी में गलतियों की सुधार, जमीन के मालिक के नाम में बदलाव, विभाजन या मरने पर उसकी जमीन के विवारण में बदलाव आदि के लिए की जाती है।

जब कोई जमीन बेची जाती है, उसकी मुराद से वारिसों के बीच भूमि का विभाजन होता है या कोई और कारगर कार्य किया जाता है, तो इसे ‘जमीन दाखिल खारिज’ कहा जाता है। इसमें भूमि के मालिक का नाम और विवरण बदलाव कर उनके बारे में नवीनतम जानकारी डाली जाती है। यह विवरण उप-to-डेट रखने के लिए की जाती है ताकि संपत्ति के विवादों और संबंधित मामलों में सही और नवीनतम जानकारी हो।


बिहार में ‘दाखिल खारिज’ एक कानूनी प्रक्रिया है जिसके द्वारा एक व्यक्ति या संगठन जमीन के मालिकाना हक को छोड़ देते हैं या उसका अधिकार काट देते हैं। यह अधिकार दाखिल खारिज Dakhil Kharij Online के द्वारा समाप्त किया जा सकता है जब व्यक्ति या संगठन निर्धारित कारणों के आधार पर जमीन के मालिकाना हक को त्यागना चाहते हैं।

दाखिल खारिज क्यों किया जाता है:

  1. अनुशासन भंग: अगर जमींदार या मालिक ने राजस्व या अन्य विभागों के नियमों का उल्लंघन किया है, तो उनके खिलाफ दाखिल खारिज किया जा सकता है।
  2. देय भूमि शुल्क देना: यदि व्यक्ति या संगठन ने विधियों के अनुसार भूमि शुल्क नहीं दिया है, तो जमींन को दाखिल खारिज किया जा सकता है।
  3. अवैध अत्यवस्थिति: यदि कोई व्यक्ति या संगठन अवैध रूप से जमींन पर कब्जा करता है, तो जमींन को दाखिल खारिज किया जा सकता है।

बिहार जमीन का दाखिल खारिज कैसे करें:

दाखिल खारिज करने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें:

  1. दस्तावेज़ तैयारी:
  1. दाखिल खारिज के लिए आवश्यक दस्तावेज़ जैसे कि जमीन का विवरण, स्वीकृति पत्र, आधार कार्ड, पिछले मालिक के नाम के साथ की गई जानकारी, और अन्य संबंधित दस्तावेज़ तैयार करें।
  1. मुख्यालय या पंचायत कार्यालय पर जाएं:
  1. आपके जिले के मुख्यालय या पंचायत कार्यालय में जाएं और दाखिल खारिज के लिए आवेदन फॉर्म प्राप्त करें।
  1. आवेदन भरें:
  1. आवेदन फॉर्म में आवश्यक जानकारी भरें और आवश्यक दस्तावेज़ के साथ आवेदन जमा करें।
  1. जांच और प्रक्रिया पूरी करें:
  1. आवेदन के बाद, संबंधित अधिकारी आपके दाखिल खारिज के आधार पर आपकी जमींन की स्थिति की जांच करेंगे।
  1. अनुमोदन और दस्तावेज़ स्वीकृति:
  1. आपके दाखिल खारिज के आधार पर यदि संबंधित अधिकारी स्वीकृति देते हैं, तो आपके दस्तावेज़ स्वीकृत हो जाएंगे।
  1. डिजिटल प्रक्रिया (यदि ऑनलाइन):
  1. यदि डिजिटल प्रक्रिया है, तो आवेदन ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से भी किया जा सकता है, जहां आपको आवश्यक जानकारी भरनी होगी और ऑनलाइन दस्तावेज़ जमा करने की सुविधा होगी।

आपको अपने जिले के लिए स्थानीय प्रक्रिया और ऑनलाइन पोर्टल के बारे में जानकारी हासिल करने के लिए संबंधित जिले के सरकारी वेबसाइट का दौरा करना चाहिए।

Bihar Dakhil Kharij Online Apply Step To Step
  1. आधिकारिक वेबसाइट पर पहुंचें: बिहार सरकार की आधिकारिक जमीन और लगान विभाग की वेबसाइट पर जाएं। वेबसाइट का पता है: http://lrc.bih.nic.in/ .
  2. लॉग इन या साइन अप: वेबसाइट पर जाने के बाद, आपको लॉग इन या साइन अप करना होगा, जिसके लिए एक उपयोगकर्ता नाम और पासवर्ड चाहिए। यदि आपके पास खाता नहीं है, तो आपको एक नया खाता बनाना होगा।
  3. आवेदन भरें: लॉग इन करने के बाद, आपको जमीन दाखिल खारिज के लिए ऑनलाइन आवेदन भरने का विकल्प मिलेगा। आवेदन फॉर्म में आवश्यक जानकारी और डॉक्यूमेंट्स की विवरण देना होगा।
  4. आवश्यक दस्तावेज़ अपलोड करें: आवेदन फॉर्म में आवश्यक जानकारी भरने के बाद, आपको आवश्यक दस्तावेज़ (जैसे की जमीन कागजात, पिछले दाखिल खारिज की जानकारी) को अपलोड करना होगा।
  5. सबमिट और भुगतान: आवेदन फॉर्म और दस्तावेज़ को सही ढंग से भरने के बाद, आपको आवेदन सबमिट करना होगा। यहां आपको आवेदन शुल्क भी भुगतान करना होगा, जैसे कि आवदेन फीस और अन्य लागतें।
  6. आवेदन की स्थिति जांचें: आप अपने आवेदन की स्थिति और प्रगति को जानने के लिए ऑनलाइन पोर्टल पर लॉग इन करके देख सकते हैं। यहां पर आपको अपने आवेदन की जानकारी मिलेगी।

इन कदमों का पालन करके, आप बिहार में जमीन के दाखिल खारिज का ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

Dakhil Kharij Status

बिहार में जमीन के Dakhil Kharij Status ऑनलाइन जांचने के लिए आपको बिहार सरकार के आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। यहां पर आप जमीन दाखिल-खारिज की स्थिति की जांच कर सकते हैं।

आपको निम्नलिखित कदमों का पालन करना होगा:

  1. बिहार सरकार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं: http://lrc.bih.nic.in/
  2. वेबसाइट पर, “जमीन Dakhil Kharij Status जांचें” या सम्मिलित सेवाओं में जाएं।
  3. वहां, आपको जमीन दाखिल-खारिज की विवरणों को देखने और जांचने का विकल्प मिलेगा।
  4. आपको आवश्यक विवरण प्रदान करने के लिए कहा जाएगा, जैसे कि ज़िला, सर्किल, सूचना नंबर, पट्टा नंबर, आदि।
  5. इन विवरणों को भरने के बाद, आप जमीन दाखिल-खारिज की स्थिति की जांच कर सकते हैं और आपको उसका स्टेटस दिखाया जाएगा।

कृपया ध्यान दें कि विभिन्न राज्यों में जमीन के दाखिल-खारिज की प्रक्रियाएँ अलग हो सकती हैं, इसलिए सबसे अच्छा है कि आप बिहार सरकार की आधिकारिक वेबसाइट से संबंधित जानकारी प्राप्त करें।

Dakhil Kharij OnlineClick Here
Dakhil Kharij StatusClick Here